-->

50+ desh bhakti shayari 2020 in hindi - देशभक्ति शायरी

desh bhakti shayari in hindi - देशभक्ति शायरी , हेलो  स्वतंत्रता दिवस   की हार्दिक सुभकामनाये, स्वतंत्र दिवस हमारे शहीदो कि याद में मनाया जाता है , हमारे देश की आजादी के लिए शहीद हुए उन विरो को सत सत नमन , आज हम देशभक्ति से ओतप्रोत कुछ शायरी आपके लिए ालये है

 आशा करते यही आपको पसंद भी आएगी और आपको देशभक्ति भी जाग उठेगी। desh bhakti status in hindi 2 line, desh bhakti status | army desh bhakti shayari in hindi , desh bhakti  shayari 2020 in hindi, desh bhakti shayari 2 line, desh bhakti shayari in english, desh bhakti status in hindi, 



desh bhakti shayari in hindi image, shayari-love-me.com




ना कड़क से ना ढाल से, आजादी मिली है बलिदान से।

खून बहाया उन वीरों ने , क़तरा क़तरा कर अपने जिस्म से।



सच है हमारे इरादे विघ्वंशंक  नहीं है,

अकारण युद्ध के हम भी प्रशंसक नहीं है

अहिंसा के पुजारी है हम..

अपनी औकात  में रहना, अहिंसक है हम नपुसंक नहीं है


Desh Bhakti Shayari in hindi





desh bhakti shayari in hindi image, shayari-love-me.com




इश्क, मोहब्बत में तो बहुत मरते हैं..

कभी देश से मोहब्बत करके देखो

नसीब नहीं है सबकों तिरंगा..

कभी अपनी मातृभूमि के लिए लड़कर देखो।







अगर माटी के पुतलों की देह में ईमान जिंदा है

तभी इस तिरंगे का स्वाभिमान बचा है।

ना उनके वादे नहीं उम्मीदों पर भरोसा है

शहीदों की बदोलत मेरा हिन्दुस्तान जिंदा है।




Desh Bhakti Shayari in hindi




गीले चावल में शक्कर क्या क्या गिरी,

तुम भिखारी खीर समझ बैठे,

चंद कुत्तो ने पाकिस्तान जिंदाबाद क्या बोला,

तुम कश्मीर को अपने बाप की ज़ागीर समझ बैठे.





desh bhakti shayari in hindi image, shayari-love-me.com





वों घर में बेठे असुरक्षित महसूस करते हैं।

दुर्भाग्य मेरे देश का जो एसे कायर जन्म लेते हैं

ये आज़ादी की कीमत कभी जान ना पाएंगे,

पूछो कभी हाल उनका जो सीमा पर शहीद होते हैं।





desh bhakti shayari 2020 in hindi




आपस की ख़लिश को दिल से निकालो..

मेरे देश के तिरंगे को आसमान में लहराओ

ना मेरा, ना उसका, ये देश हैं हम सब का

आपसी रंजिश को छोड़ो और देश को बचाओ।






ना पाक तेरा, ख्वाब ख्वाब ही रह जाएगा।

ये हिन्दुस्तान है! तेरा नाम ही मीट जाएगा।





हम सोते हैं छेन और अमन से..

उन शहीदों कि बदौलत से

जो सीमा पर खड़े है काल बनकर

कभी उन्हें भी सलाम करो दिल से।।





desh bhakti shayari in hindi




देशभक्ति है खून में तो बताइए..

विदेशी समान का उनका आईना दिखाइए

नहीं बढ़कर देश से कुछ..लड़ना नहीं है सीमा पर,

कुछ तो जिम्मेदारी आप भी घर से निभाइए





desh bhakti status in hindi




कहते हैं आज़ादी चरखे ने दी है, फ़िर वों फांसी पर चड़े कोन थे ।

हिन्दुस्तान की मिट्टी के लिए जान देने वाले वो भगत सिंह कोन थे ।

कौन थे वो शहीद जिन्होंने भारत माँ की लाज बचाई थीं..

अहिंसा के पुजारी कहने वाले पूछो जरा, जो आए लिपटकर तिरंगे से वो शहीद कोन थे ।





उस मेहन्दी की रस्म को भूल आया हू..

किसी की हसी अपने साथ लाया हू..

मुझे सीने से लगा दे ए भारत माँ.

मै अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हू।






ए मेरी ज़मी अफ़सोस नहीं जो तेरे लिए सो दर्द सहे।

फीका ना पड़े कभी रंग तेरा जिस्मों से निकलता खून कहें।

तेरी मिट्टी में गुल जावा तेरी नदियों में बह जावा..

बस इतनी सी है आरज़ू,







लिख रहा हूँ मैं अंजाम जिसका कल आएगा..

मेरे लहू का क़तरा क़तरा कल इंकलाब लाएगा।

ये जिंदगी मेरे वतन की है, उस पर हो लुटा जाऊँगा

मेरे मरने के बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आएगा।





desh bhakti shayari in english




likh raha hoon main anjaam jisaka kal aaega..

mere lahoo ka qatara qatara kal inkalaab laega.

ye jindagee mere vatan kee hai, us par ho luta jaoonga

mere marane ke baad vatan par marane vaalon ka sailaab aaega.





वों सीमा पर लड़ते रहें, जान की बाजी लगाते रहें

कुछ ग़द्दार मेरे देश को नीलाम होने का सपना ही देखते रहें..






जान ये देश के नाम हों जाए..

मेरे लहू से मेरे वतन की हिफाज़त हो जाए

बस एक ही आरज़ू है मेरी..

कफन की जगह तिरंगा नसीब हों जाए।





इस तिरंगे को हमेशा दिल से लगाए रखना..

देश पर मर मिटने की आग दिल में जलाये रखना

ये हिन्दुस्तान है ना कभी झुका है ना झुकेगा..

इस भारत माँ की लाज अब तुम बचाए रखना।






is tirange ko hamesha dil se lagae rakhana..

desh par mar mitane kee aag dil mein jalaaye rakhana

ye hindustaan hai na kabhee jhuka hai na jhukega..

is bhaarat maan kee laaj ab tum bachae rakhana.




इश्क, मोहब्बत में तो बहुत मरते हैं..

कभी देश से मोहब्बत करके देखो

नसीब नहीं है सबकों तिरंगा..

कभी अपनी मातृभूमि के लिए लड़कर देखो।






अब तुम्हारे हवाले वतन  साथियों..

मिलकर रहना मेरे देश वासियों..

इस तिरंगे को कभी झुकने मत देना..

दिखादो दुश्मन को अपनी औकात  साथियों।








जिसके रक्त के बून्द बून्द में है हिन्दुस्तान..

कभी ना झुकेगा इस देश का जवान

गर्दन कटने का कभी डर ना रहा..

ऐसे  सो जन्म मेरे देश पर कुर्बान।







क्यों अपना ही खुन बहाते हों..

क्यों हिन्दू - मुस्लिम करते हों

ये हिन्दुस्तान हम सब का है..

फिर क्यों आपस में लड़ते हों।






ये बागान हमारा है जिसके हम फूल है

ये हिंदुस्तान हमारा है जिसके हम मुल है

हिन्दू, मुस्लिम सीख, ईसाई..

सलाम है उन्हें जिन्होंने आज़ादी दिलाई।







रगों में हिन्दुस्तान का खून बहता है..

आखों में तिरंगे की चमक रहती है

मु के बल गिरता है, जो हिन्दुस्तान से टकराता है।





desh bhakti status | army




मेरे वतन  से है पहचान मेरी.. मेरा वतन  है जान मेरी।

मेरे रग रग मे है हिन्दुस्तान, उस लहराते तिरंगे मे है जान मेरी।






15 अगस्त देशभक्ति शायरी 





थोड़ा देशभक्ति का भी ख्याल रखना..

मिले जो तिरंगा कई उसे सम्हाल रखना

आने वाली है 15 अगस्त.. उस तिरंगे का मान रखना

कितने शहीदों ने कुर्बानी दी है इसे दिल से याद रखना








उच्चा सदा रहेगा ये, है शान ये हिन्दुस्तान की।

झुकने नहीं दूँगा, परवाह नहीं मुझे प्राण की

ये तिरंगा फहराएग दुनिया के आसमान में

खाक हो जाएगा वों अगर जुर्रत की आंख उठाने की।






desh bhakti shayari in hindi image, shayari-love-me.com




desh bhakti shayari in hindi


हिन्दुस्तान किसी जन्नत में कम नहीं

ये भारतभूमि किसी मन्नत से कम नहीं।

जहा इंसान तो क्या पत्थर भी पूजे जाते हैं

अगर यहां भी कोई खुश नहीं तो समझो उसके नसीब कुछ नहीं।








जान जिसकी हथेली पर हों, उस हिन्दुस्तान के बेटे है।

आंच ना कभी आने दी हम जलती चिता पर लेटे है

खाक हो जाएगा तू पर सपना तेरा कभी पूरा ना होगा

हिम्मत है तो सामने से आ, नामर्द पीछे से वार करते हैं।










आँख खुले तो धरती हो मेरे हिन्दुस्तान की..

निकल जाए सासें तो महक हों बलिदान की।

हम मरते हैं हिंदुस्तान पर, मरते हैं इसकी शान पर

ग़म नहीं है मौत का बस हर जन्म में मिट्टी हो हिन्दुस्तान की।






मै खून की उस होली को खेल आया हू।

मै दुश्मन को उसकी औकात दिखा आया हू

कंधे पर बोझ नहीं, ये फ़र्ज़ था मेरा..

देख मेरी शान तिरंगा, मैं अपने साथ लाया हू।






desh bhakti shayari 2020 in hindi





मजहब हमारे अलग है पर एक ये हमारी जान।

ये हिन्दुस्तान हमारा है और हम है इसकी शान।

गर्व से कहते हैं हम भारत देश महान है ..

कभी राम ने तो कभी रहीम ने दी है अपनी जान।






desh bhakti shayari in hindi image, shayari-love-me.com






हाँ भारत का रहने वाला हू, है इसका मुझे गुमान

मेरी बातों में बस रहता है मेरी मिट्टी का गुणगान।

ख्वाहिश नहीं है! मुझे जन्नत और मोक्ष की..

कफन नहीं बस तिरंगे से हो मेरी पहचान।








चलो फिर से आज वो नज़ारा याद कर ले।

शहीदों के दिल की वो ज्वाला याद कर ले

जिसमें बहकर आज़ादी पहुची थी किनारे पर।

आज़ उन देशभक्तों को नमन और सलाम कर ले।








सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है..

देखना है फ़िर तुझे जोर कितना बाजू ए कातिल है।

एक ही बार में पीछे भागता, ढूंढता कुछ छिपने को

ये हिंदुस्तान है उसे भी नहीं छोड़ता छिपता जो बिल मे है







कोइ कहें मेरा मज़हब खतरे में है,

कोई कहता मेरा धर्म ख़तरे मे है।

जनाब ज़रा अपना चश्मा बदलों,

हिन्दुस्तान ख़तरे मे है।




desh bhakti shayari in hindi






किसीका आसमान हो गया तो किसी की ज़मी हो गई।

सीमा पर सीने में गोली खाई और भारत माता रोती रह गई।

कुर्सी के चक्कर में इन्होंने आपसी रंजिश फैलाई।

जिसे हिन्दुस्तान प्यारा था, उसने तिरंगे की कसम खाई।






छड़ गए जो हंसकर सूली, जिन्होंने सीने पर गोली खाई।

नमन है इसे वीरों को जिनको भारतभूमि है पाई।

सलाम है उनकी शहादत को, जिन्होंने हमारी रक्षा की।



desh bhakti shayari in hindi image, shayari-love-me.com





हिन्दुस्तान से है पहचान मेरी..

शहीदों के बलिदान से है ये जान मेरी।

लहू से देशभक्ति कभी कम ना होगी।

ये तिरंगा सदेव रहेगा जान मेरी।






गणतंत्र दिवस  की हार्दिक सुभकामनाएँ शायरी 





राजनीति की भुख ये ऐसी शहादत उनकी भूल गए

जिन्होंने बहाया खून अपना उनके बलिदान को भूल गए

याद करे उनके बलिदान को जो होली खून से खेले थे

वो लड़े जान हथेली पर लेकर, तिरंगे से लिपटकर आए थे।






मेरी ये जान मेरे देश के काम आ जाए..

मे रहूं ना रहूं मेरे देश की शान रह जाए

मेरी मोहब्बत मेरे देश है.. मेरे तिरंगे से है

अगर मैं मर भी जाऊँ तो कफन में तिरंगा नसीब हो जाए।




ये भी पड़े- mahatma gandhi quotes in hindi





वो भारत देश है मेरा, जहां डाल डाल पर पंछी करे बसेरा।

हर रंग में रंग जाता है एसा हिन्दुस्तान है मेरा।

है प्रीत जहां की रीत सदा, मैं गीत वहीं के गाता हूं..

भारत का रहने वाला हू, भारत की बात सुनाता हूँ।

💥गणतंत्र दिवस की सुभकामनाये 💥





desh bhakti shayari in hindi image, shayari-love-me.com





काले गोरे का भेद नहीं हर दिल से हमारा नाता है।

हिन्दू मुस्लिम, सीख, ईसाई ये सबके दिलों को भाता है

मज़हब से नहीं ये दिलों से बना हिन्दुस्तान है..

बलिदान है इसमे सबका , इसलिये तिरंगा गर्व से लहराता है।

💥गणतंत्र दिवस की सुभकामनाये 💥






वतन परस्ती शायरी





जो काम ना आ सके वो बेकार जवानी है..

लाज ना रख सके जो भारत माँ का..

वों खून नहीं बस पानी है।


Read more- Motivation shayari


महफ़ूज़ रहें ये जहां हमारा,

सबसे प्यारा हिन्दुस्तान हमारा

वीर गति को पाने वालों..

हमेशा रहेगा सम्मान तुम्हारा।


💥गणतंत्र दिवस की सुभकामनाये 💥







desh bhakti shayari in hindi image, shayari-love-me.com






चाहें मेरे जिस्म से क़तरा क़तरा कर खून बह जाए

आखिरी साँस तक तिरंगे को कोई झुका ना पाए

दफन हो जाऊँ मैं हिन्दुस्तान की मिट्टी में..

बस कफन में नसीब हो तिरंगा, तो ये जिंदगी सफल हो जाए।






उनकी शहादत को कभी बदनाम नहीं होने देंगे।

हिन्दुस्तान की इस आज़ादी की कभी शाम ना होने देंगे।






लिपट कर तिरंगे में आज भी कई शहीद आते हैं

आज का ये पर्व दोस्तों यू ही नहीं मनाते है।

ये पर्व ख़ुशी का नहीं उनकी शहादत के नमन का है

जो हमारे सूख छेन के लिए अपनी जान गवाते है।




desh bhakti shayari 2 line


नमन करते हैं उन शहीदों की जो कुर्बान हुए हैं तिरंगे पर।

सुरक्षित रहें ये हिन्दुस्तान हमारा, वो खड़े हुए हैं सीमा पर।




दे सलामी तिरंगे को.. जिससे हमारी शान है।

सर हमेशा ऊँचा रखना जब तक जिस्म में जान है।





आज़ाद है हम और आज़ाद ही रहेंगे..

मीट जाएंगे पर ये सर नहीं झुकाएंगे

महान है मेरा भारत...

गुलामी थे हम पर अब कभी ना रहेंगे।




याद करे उनकी कुर्बानी को, जो तिरंगे से लिपटकर आते हैं।

याद करें उनकी कुर्बानी को जो देश के लिए सबकुछ छोड़ जाते हैं


ये आज़ादी हमें जान से प्यारी है, ये उन शहीदों की मेहरबानी है

चूमा था जिसने फांसी के फंदे को, ये मिट्टी उन्की निशानी है।





desh bhakti shayari in hindi image, shayari-love-me.com





अपने आपको देशभक्ति कि आग में तपाये  बैठे हैं।

जान हथेली पर, सीने में आग देशभक्ति जलाये बेठे है ।




मेरे वतन  से है पहचान मेरी.. मेरा वतन  है जान मेरी।

मेरे रग रग मे है हिन्दुस्तान, उस लहराते तिरंगे मे है जान मेरी।


💥गणतंत्र दिवस की सुभकामनाये 💥






कहें तो मैं राम बन जाऊँ..

कहें तो मैं रहीम बन जाऊँ

ये लहू है हिन्दुस्तान का

क़तरा क़तरा इसके नाम कर जाऊँ।




ये भी पड़े- swami vivekananda quotes in hindi




खून की होली जिन्होंने खेली है..

भर दी उन्होंने भारत माँ की झोली है।

व्यर्थ नहीं है बलिदान उनका..

उनके रक्त से मिली ये आज़ादी है।




desh bhakti status in hindi 2 line




ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई ,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता ,

 नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई ,
 मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता





desh bhakti shayari in hindi image, shayari-love-me.com




हिन्दुस्तान हमारा है, ये देश वीर जवानों का है..

नहीं है ये वस्त्र तीन रंगो ये रंग हमारे स्वाभिमान का है





खून का वों आख़िरी क़तरा जो वतन की हिफाज़त करे..

दुनिया की सबसे अनमोल चीज़ है।




जिनके एक हाथ में गीता और दूसरे हाथ में कुरान

जिन्होंने देश को मिसाइलें दी, इसे थे हमारे कलाम।




desh bhakti shayari in hindi image, shayari-love-me.com




वो दिल ही क्या जिसमें देशभक्ति ना हो..

वो जान ही क्या जो तिरंगे मे लिपटी ना हों



आज भी आते हैं बदन, लिपटकर तिरंगे से..

ये आज़ादी मिली है हमें शहीदों के बलिदान से।




मन मेरे तू ख़ुद को मग्न कर दे..

उन वीरों को दिल से नमन कर दे।




एक व्यक्ति के अंदर स्वदेश प्रेम की भावना का होना आवश्यक है।
अगर खुन में देशभक्ति नही है तो उसका जीना है बेकार है। हमारे देश में एसे कई देश भक्तों ने हसते हसते अपनी मातृभूमि के लिए प्राण दे दिए।

हमें उन्हें कभीं नहीं भूलना चाहिए। आज हम अगर अपने घर में सुरक्षित हैं तो हम उन देशभक्तों की वज़ह से जो सीमा पर अपनी जान हथेली पर लेकर खड़े है। और अपनी जान की परवाह किए बिना दुश्मनों से लड़ रहे हैं। हमें उनके जज़्बे को सलाम करना चाहिए और उनसे देशभक्ति की प्रेरणा लेनी चाहिए।

आपको देशभक्ति भी जाग उठेगी। desh bhakti status in hindi 2 line, desh bhakti status | armydesh bhakti shayari in hindi, desh bhakti  shayari 2020 in hindi, desh bhakti shayari 2 line, desh bhakti shayari in english, desh bhakti status in hindi, और 15 अगस्त, और 26 जनवरी शायरी, हमारी मातृभूमि की रक्ष में शहीद उन विरो को समर्पित है 


 स्वदेश प्रेम का अर्थ होता है। अपना देश स्वदेश प्रेम का पूरा अर्थ व अपने देश से प्रेम यह भावना व्यक्ति को देश की रक्षा करने और देश के लिए कुछ भी कर गुजरने के लिए प्रेरित करती है।

 एक स्वदेश प्रेमी व्यक्ति अपने देश को ही नहीं बल्कि इससे जुड़ी हर छोटी-बड़ी वस्तु से प्रेम करता है। वह सभी धर्मों का समान रूप से आदर करता है। देश के हर ऐतिहासिक इमारतों भूमि के प्रति आदर का भाव रखता है।
देश के विकास से उसे खुशी मिलती है और देश की गिरती स्थिति उसे चिंता में डाल देती है।

नागरिक को चाहिए कि वह अपने देश के लिए बलिदान करने में हिचकिचाये नहीं । यही उसका सच्चा स्वदेश प्रेम कहलाएगा। लेकिन आजकल लोगो में अपने प्रति स्वार्थ चल रहा है।

लोगों के अंदर देश प्रेम की इस तरह की भावनाएं समाप्त हो रही है। देशभक्ति के आदर्श धूमिल हो रहे हैं। लोगों के अंदर अपनी जरूरतों की कामनाएं अधिक बढ़ रही है।

 देश का क्या हो रहा है फिर उन्हें इससे कोई सरोकार नहीं है। देश भक्त लोग सुमित को परे रखते हैं। उनके लिए पहले देश है। वह अपने देश की रक्षा, सम्मान और गौरव के लिए स्वयं की आहुति बिना हिचकिचाते दे देते हैं। भगत सिंह आजाद आदि ऐसे अन्य देशभक्तों के उदाहरण हैं

जिन्होंने अपने प्राणों का बलिदान देकर अपनी  देश भक्ति को साबित किया और हमें आज़ाद भारत दिया हमारे देश में एसे अनगिनत वीर शहीद हुए हैं। ओर अपने देश के शहीद हो रहें हैं.

तो दोस्तों आशा करते हैं कि देश भक्ति की भावना से ओतप्रोत ये desh bhakti shayari in hindi आपको पसंद आई होगी।




Post a Comment

Previous Post Next Post
<-- -->