-->

rajputana shayari । rajputana andaz status shayari ।

Rajputane की मरूभूमि नें अपने अंदर विशाल आंसुओ के समुद्र को छिपाये बाहर से मुस्कराती है, राजपूतो प्र कुछ बेतरीन 

शायरी जय भवानी शायरी,
राजपूत स्टेटस फोटो,
राजपूत लव स्टेटस,
राजपूत शायरी 2020,
स्टेटस फॉर फेसबुक,
राजपूत शायरी स्टेटस, कुछ ऐसी ही शायरी उन विरो के  लिए जिन्होंने अपनी मतृभूमि के लिए बलिदान दिया , जिसने अपनी कोख से जन्मे राजपूतों को अपने अंदर ही समा लिया, जो राजपूत शिश काटने पर भी अपने धड़ से अपनी मातृभूमि के लिए लड़ते रहे और शहीद हो गए लेकिन ना तो उन्होंने अपने स्वाभिमान को गिरने दिया, ना ही बादशाहत के लिए झुककर सलाम करना स्वीकार किया, चाहें उसके लिए हज़ारों घाव ही क्यों ना पड़े, क्योंकि ना गरम सरिये से आखें फोड़ दे लकिन अपनी मरूभूमि के लिए झुकना स्वीकार नहीं किया, और अपनी आख़िर सासों तक Rajputane के लिए लड़ते रहे।


rajputana-shayari


Rajputo की वीरता और उनके अदम्य साहस को हम कोटि कोटि नमन करते हैं, जिसे मरूभूमि कहते हैं उसने एसे अनेकों वीरों को जन्म दिया। ये rajputana उन्हें सदेव और आने वालीं पीढियों को गौरवान्वित करते रहेंगे। इसे ही उन वीरों की याद में कुछ खून को उबालने वाले rajputi stetus अपनी भावनाओं को शब्दों में प्रकट करने का प्रयास किया है। आशा करते हैं कि ये rajputana shayari और वो भी  rajputana andaz status shayari  में आपको पसंद आयेंगे जय माँ भवानी।



rajputana shayari:-हमें विरासत में मिला है..


ये तलवार चलना🦾🦾 हमें विरासत में मिला है.. किसी सर्कस से नहीं..
राजपूत है हम युद्ध से बने हैं.. 🌪️🌪️ गुलामों से नहीं...

rajputana-shayari

ye talavaar chalana🦾🦾 hamen viraasat mein mila hai.. kisee sarkas se nahin..raajapoot hai ham yuddh se bane hain.. 🌪🌪 gulaamon se nahin...



बन्ना लकड़ी के डंडे से नहीं तलवार से खेला करते हैं..
ये वो शेर का खून है जिससे दुश्मन गीदड़ की तरह भागा करते हैं।

banna lakadee ke dande se nahin talavaar se khela karate hain..
ye vo sher ka khoon hai jisase dushman geedad kee tarah bhaaga karate hain.

मूछों पर ताव, आखों में खुन और चहरे पर शेर की दहाड़ होती है..
भौंकने वाले कुत्तों की लाइन लग जाती है, जब बन्ना की Entry होती है।

rajputana-shayari




moochhon par taav, aakhon mein khun aur chahare par sher kee dahaad hotee hai..
bhaunkane vaale kutton kee lain lag jaatee hai, jab banna kee aintry hotee hai.

पीछे से वार करना ये राजपूतों का धर्म  नहीं, 
निहत्थे पर वार करना ये राजपूतों की शान नहीं.. 
सर कट जाता है लकिन कभी झुकता नहीं।

rajputana-shayari



peechhe se vaar karana ye raajapooton ka dharm nahin, 
nihatthe par vaar karana ye raajapooton kee shaan nahin.. 
sar kat jaata hai lakin kabhee jhukata nahin.

पीठ दिखाकर भागे, वो राजपूत कैसा, दुश्मन को अपनी okat ना dikhde वो राजपूत कैसा... जो महाराणा की तरह लड़े  राजपूत हो वैसा...

peeth dikhaakar bhaage, vo raajapoot kaisa, dushman ko apanee okat na dikhdai vo raajapoot kaisa... jo mahaaraana kee tarah lade  raajapoot ho vaisa...


rajputana shayari:-सर कट गए पर वो लड़ते रहे


सर कट गए पर वो लड़ते रहे.. धड़ से ही दुश्मन गाजर मूली की तरह कटते रहें..
 बिना आखों के राजपूत लड़ते रहे और बादशाह तीर के निशाने पर गद्दी से गिरते रहें..

rajputana-shayari




sar kat gae par vo ladate rahe.. dhad se hee dushman gaajar moolee kee tarah katate rahen.. bina aakhon ke raajapoot ladate rahe aur baadashaah teer ke nishaane par gaddee se girate rahen..

राजपूत शायरी स्टेटस:-
उनकी इतनी okat कहाः जो वार करे सामने से..
जो धर धर कांपते युद्ध में राजपूतों की दहाड़ से , 
वो एक वार मै कट जाते महाराणा की तलवार से। 


rana-stetus




unakee itanee okat kahaah jo vaar kare saamane se..
jo dhar dhar kaampate yuddh mein raajapooton kee dahaad se , 
vo ek vaar mai kat jaate mahaaraana kee talavaar se. 

राजपूत बन्ना शायरी:-
शिकार तो आज भी हम हाथ से करते हैं, 
ये बंदूक तो दिवाली मे खलने के लिए रखते है. 


shikaar to aaj bhee ham haath se karate hain, 
ye bandook to divaalee me khalane ke lie rakhate hai. 

read more.. maa par shayari 

ये केसरिया है पहचान हमारी.. 
रण भूमि है जान हमारी.. 
कान खोल के सुन ले बेटा, राजपूत है पहचान हमारी.. 

rajputana-shayari




ye kesariya hai pahachaan hamaaree.. 
ran bhoomi hai jaan hamaaree.. 
kaan khol ke sun le beta, raajapoot hai pahachaan hamaaree.. 


राजपूतों की गलियाँ नहीं, मैदान हुआ करते हैं.. 
जहां राजपूत युद्ध नहीं तांडव किया करते हैं.. 

rajputana-shayari




raajapooton kee galiyaan nahin, maidaan hua karate hain.. 
jahaan raajapoot yuddh nahin taandav kiya karate hain.. 


राजपूत कहानिया पढ़ा नहीं करते, बनाया करते हैं.. 
raajapoot kahaaniya padha nahin karate, banaaya karate hain.. 


बादशाहत मिलती नहीं .. बनाई जाती है.. 
राजपूत बनते नहीं है सिर्फ पैदा होते हैं.. 


baadashaahat milatee nahin .. banaee jaatee hai.. 
raajapoot banate nahin hai sirph paida hote hain.. 

rajputana shayari:-जितना तुममें वजन हुआ करता था


जितना तुममें वजन हुआ करता था.. 
उतना तो सिर्फ हमारे महाराणा का एक जुता हुआ करता था। 
भाले की ना पूछना, हाथियों से लड़ने के लिए चेतक हुआ करता था। 

rajputana-shayari
जय भवानी शायरी




jitana tumamen vajan hua karata tha.. 
utana to sirph hamaare mahaaraana ka ek juta hua karata tha. 
bhaale kee na poochhana, haathiyon se ladane ke lie chetak hua karata tha. 

जो शेर की सवारी करते हैं, कुत्ते उन पर भोंका नहीं करते.. 
जब राजपूत निकलते हैं तो झुककर सलाम करते हैं, नजरं उठा के देखा नहीं करते...


jo sher kee savaaree karate hain, kutte un par bhonka nahin karate.. 
jab raajapoot nikalate hain to jhukakar salaam karate hain, najaran utha ke dekha nahin karate...


rajputana andaz status shayari:-शान राजपूत की तलवार

मुछो पर शायरी:-

शान राजपूत की तलवार और सर पे केसरिया रंग 
आखों के शोले, मूछों पर ताव, जो देखे रह जाते दंग। 

rajputana-shayari




shaan raajapoot kee talavaar aur sar pe kesariya rang 
aakhon ke shole, moochhon par taav, jo dekhe rah jaate dang. 


वों राणा से लेकर महाराणा, जिन्होंने बनाया rajputana। 
रक्त से सिंचा अपनी जन्म भूमि को, पड़ा अकबर को भी पछताना। 

Read more ..best love attitude shayari in hindi
von raana se lekar mahaaraana, jinhonne banaaya rajputan. 
rakt se sincha apanee janm bhoomi ko, pada akabar ko bhee pachhataana. 


कर्म गुलामी के और ताज बादशाह के चाहते हो.. 
राजपूत इतिहास बनाते हैं और तुम ख़ुद लिखते हो। 


rajputana-shayari



karm gulaamee ke aur taaj baadashaah ke chaahate ho.. 
raajapoot itihaas banaate hain aur tum khud likhate ho. 


rajputana stetus shayari:-शिश कटे लकिन झुके नहीं,


युद्ध में जो  जाते हैं, बाँध के केसरिया वहीं राजपूत कहलाते हैं, 
शिश कटे लकिन झुके नहीं, वो rajputana के वीर कहलाते हैं। 


yuddh mein jo  jaate hain, baandh ke kesariya vaheen raajapoot kahalaate hain, 
shish kate lakin jhuke nahin, vo rajputan ke veer kahalaate hain. 



हर बार वार किया तुमने पीछे से.. 
पर राजपूतों हाथ नहीं उठाया निहत्थे पे.

har baar vaar kiya tumane peechhe se.. 
par raajapooton haath nahin uthaaya nihatthe pe. 



ये जन्म भूमि है मेरी, ये स्वाभिमान है मेरा.. 
Rajputana तो क्या मुट्ठी भर माटी ना दु, । 
माँ भवानी की कसम हाथ लगाकर तो देख, 
सर काट कर हाथ में ना दु,तो महाराणा नाम नहीं मेरा .. 


ye janm bhoomi hai meree, ye svaabhimaan hai mera.. 
rajputana  to kya mutthee bhar maatee na du, . 
maan bhavaanee kee kasam haath lagaakar to dekh, 
sar kaat kar haath mein na du,to mahaaraana naam nahin mera .. 


वों धर्म क्षत्रीय कहलाता है जो महाराणा निभाता है। 
वों चेतक फ़र्ज़ निभाता है, जो हाथी पर छड़ जाता है। 

von dharm kshatreey kahalaata hai jo mahaaraana nibhaata hai. 
von chetak farz nibhaata hai, jo haathee par chhad jaata hai. 



क्षत्रियों के आखों अंगारे जब निकलते हैं, 
तब तलवारें बात करती हैं। 
ज्वाला की आग में पन्ने इतिहास के लिखते हैं, 


rajputana-shayari



kshatriyon ke aakhon angaare jab nikalate hain, 
tab talavaaren baat karatee hain. 
jvaala kee aag mein panne itihaas ke likhate hain, 

दुश्मनों को राजपूत मारा नहीं कुचल दिया करते हैं.. 
गद्दारों का शीश धड़ से अलग, खुन से तिलक लगाया करते हैं।

 dushmanon ko raajapoot maara nahin kuchal diya karate hain.. 
gaddaaron ka sheesh dhad se alag, khun se tilak lagaaya karate hain. 


कोई दिवार नहीं जो राजपूत को रोक सके.. 
दुश्मन की okat नहीं जो सामने से लड़ सके.. 


koee divaar nahin jo raajapoot ko rok sake.. 
dushman kee okat nahin jo saamane se lad sake.. 


खेल राजपूत मैदानों में खेला करते हैं.. 
तलवार उनका बल्ला और शीश से बाउंड्री मारा करते हैं 


khel raajapoot maidaanon mein khela karate hain.. 
talavaar unaka balla aur sheesh se baundree maara karate hain 

rajputana shayari:-ये rajputana है यहा नजरे 

ये rajputana है यहा नजरे नीचे करके बात करते हैं.. 
ये जन्म भूमि है योद्धाओं की यहां शीश झुकाकर नमन करते हैं। 


ye rajputan hai yaha najare neeche karake baat karate hain.. 
ye janm bhoomi hai yoddhaon kee yahaan sheesh jhukaakar naman karate hain. 


दोस्तों में जान देते हैं राजपूत और दुश्मनी मे जान लेते हैं राजपूत। 


doston mein jaan dete hain raajapoot aur dushmanee me jaan lete hain raajapoot. 


भरोसा राजपूतों का तोड़ना नहीं, युद्ध में राजपूतों को ललकारना नहीं, 
जान से हाथ धो बैठोगे, क्योंकि राजपूतों के दिल में तूफ़ान होता है प्यार नहीं। 

rajputana-shayari



bharosa raajapooton ka todana nahin, yuddh mein raajapooton ko lalakaarana nahin, 
jaan se haath dho baithoge, kyonki raajapooton ke dil mein toofaan hota hai pyaar nahin. 

 rajputana andaz status shayari:-

जितने बन्ना के ठाठ है उतने तुम्हारे घर में ना खाट है.. 
सोच समझकर दुश्मनी करना ये राजपूत की तलवार है। 


jitane banna ke thaath hai utane tumhaare ghar mein na khaat hai.. 
soch samajhakar dushmanee karana ye raajapoot kee talavaar hai. 

rajputana andaz status shayari:-ये rajputan की मिट्टी है..


ये rajputane  की मिट्टी है, जिसका कण कण सोने से कम नहीं। 
ये राणा और महाराणाओ जन्मभूमि माँ के आँचल से कम नहीं। 


ye rajputane  kee mittee hai, jisaka kan kan sone se kam nahin. 
ye raana aur mahaaraanao janmabhoomi maan ke aanchal se kam nahin. 


धरा ये rajputane  की, कहानी कहती बलिदानों की। 
इतिहास लिखती तलवारों से, जो शीश कभी ना झुकने की। 


dhara ye rajputan kee, kahaanee kahatee balidaanon kee. 
itihaas likhatee talavaaron se, jo sheesh kabhee na jhukane kee. 


उनकी क्या okat जो लड़े rajputon से.. 
हार कर भीख मांगते और वार कर पीछे से। 


unakee kya okat jo lade rajputon se.. 
haar kar bheekh maangate aur vaar kar peechhe se. 


राजपूतों  का दिल बड़ा है , इसलिए छोड़ देते हैं दुश्मन को। 
वरना क्या ओकात चूहे की जो ललकारने लगे शेर को। 


raajapooton ka dil bada hai , isalie chhod dete hain dushman ko. 
varana kya okaat choohe kee jo lalakaarane lage sher ko. 


शेर का पंजा और राजपूत का वार कभी खाली नहीं जाता, 
गिली कर देते हैं जब सामना राजपूत से होता है। 

sher ka panja aur raajapoot ka vaar kabhee khaalee nahin jaata, 
gilee kar dete hain jab saamana raajapoot se hota hai. 


राजपूत का पंजा और दुश्मन का सिर गंजा.. 


raajapoot ka panja aur dushman ka sir ganja.. 

राजपूत के काम, है जो माँ भवानी के लाल। 
टूट पड़ते हैं जब दुश्मनों पर, बनके महाकाल.. 

rajputana-shayari


raajapoot ke kaam, hai jo maan bhavaanee ke laal. 
toot padate hain jab dushmanon par, banake mahaakaal.. 


फ़ौज शेरों की और मौज बन्ना की किसी के रोकने से नहीं रुकती।

fauj sheron kee aur mauj banna kee kisee ke rokane se nahin rukatee.


शेर की पहचान उसकी दहाड़ से और राजपूत की पहचान उसके वार से.. 

sher kee pahachaan usakee dahaad se aur raajapoot kee pahachaan usake vaar se.. 


राजपूतों की ठोकर बना देती है, सर्कस का जोकर..

raajapooton kee thokar bana detee hai, sarkas ka jokar..

rajputana shayari:-तलवार वों जो chatrani हाथ में दे

तलवार वों जो chatrani हाथ में दे। युद्ध वो जो राजपूत लड़े।
दुश्मन आए हज़ारों की फौज मे, अगर चंद राजपूत मिलकर लड़े। 


talavaar von jo chhatrani haath mein de. yuddh vo jo raajapoot lade.
dushman aae hazaaron kee phauj me, agar chand raajapoot milakar lade. 

राजपूती शान और राजपूती ठाठ.. 
उंगली जो उठाए उसकी लगाते हैं वाट। 

rajputana-shayari



raajapootee shaan aur raajapootee thaath.
ungalee jo uthae usakee lagaate hain vaat.

आशा करते है दोस्तों आपको ये rajputana shayari और rajputana andaz status shayariबन्ना के स्टेटस पसंद आये होंगे हमे कमेंट में जरूर बताये , और आपकी इन स्टेटस के बारे में क्या राय  है कमेंट करे 


Post a Comment

Previous Post Next Post
<-- -->