-->

maa par shayari in hindi । maa par shayari image ।

maa ki shayari with image
 maa par shayari image



Maa par shayari in hindi and English font :-  खुदा का दूसरा रूप है मां। ममता की गहरी झील है मां। वह घर किसी जन्नत से कम नहीं जिस घर में  पूजी जाती है, मां। 
मां एक ऐसा अनमोल रत्न है जिसके बारे में शब्दों में बयां करना बहुत कठिन है। कहते हैं कि भगवान हर किसी के साथ नहीं रह सकते थे। इसलिए उन्होंने मां जैसे अनमोल रिश्ते को बनाया। और इस दुनिया मां को भेजा। 
दुनिया का सबसे आसान शब्द है माँ। मगर इस नाम में भगवान खुद वास करते हैं। 
maa ki mamta shayari:-
बिन तेरे जिंदगी कुछ एसे कट गई..आखों में आंसू पर तुझे दुआएँ दे गई, ख्वाब छूने का चांद सितारें..लौटने में शहर से तुझे केसे देरी हो गई ..इंतजार में तेरे गांव की माएँ रह गई। 


मां एक ऐसा शब्द है जिसे दुनिया का हर बच्चा अपने मुंह से इस दुनिया में आने के बाद सबसे पहले लेता है। पिता और माता इस दुनिया में भगवान के वह रूप है। जो बिना किसी स्वार्थ के हमें पालते हैं, हमारे लिए दिन रात मेहनत करते हैं ताकि हमारी परवरिश अच्छी हो और अपना पूरा जीवन हमारे ऊपर न्योछावर कर देते हैं। और हमेशा भगवान से यही दुआ मांगते हैं। वैसे माँ को सब्दो में लिखना आसान नहीं है उसकी ममता को हम सब्दो में बया नहीं किया जा सकता लेकिन हमने माँ पर  शायरी  लिखकर की ममता को सब्द देने का प्रयास  किया है 

कि हमारे बच्चे पर कोई आंच ना आए। और उसे दुनिया की हर खुशी और कामयाबी मिले इसी हमारे लिए निःस्वार्थ भाव से दुआएँ सिर्फ माँ ही करती है । 

maa ki yaad shayari hindi:-

एक बच्चा की सबसे पहली दुनिया मां का आंचल की होती है। उसी की गोद में बैठकर वह दुनिया के नए रंग देखता है।  माँ ही पहला गुरुकुल और पहला गुरु होती है। सबसे पहला शब्द भी माँ ही कहता है। माँ ही हमारी  जीवन भर देखभाल करती है। उसी की अच्छी परवरिश के कारण हम अच्छे। चाहे कितने भी बड़े हो जाएं लेकिन मां के लिए हमेशा हम बच्चे ही रहती हैं। वह हर समय हमारी चिंता करती है। और हम सही राह दिखाती है। हमारा हर सुख दुख में साथ देती है। हमारे लिए दुआएँ करती है। 

जब हम बीमार होते हैं तो वही हमारे लिए रात भर जागते हैं। भगवान से हमारे ठीक होने की प्रार्थना करती है। मां भूखी रहकर भी हमें भरपेट भोजन खिलाती है। मां के जैसा त्याग और प्यार कोई नहीं कर सकता है। हमारी हर बात को समझती है चाहे हम उसे बताएं  या नहीं। वह हमारे अंदर हर आंसू की वजह पूछते। और अपने चहरे से ही अपना हाल जान लेती है। माँ को कुछ भी बताने की ज़रूरत नहीं है। की आप खुश हैं या नहीं। 

अगर हम किसी कार्य को नहीं करते है, तो माँ हमारे साथ खड़ी होती है। माँ अपने बच्चों से कभी नहीं रूठी ती है। अगर वह रूठ जाती है तो ज्यादा देर तक रूठी हुई नहीं रह सकती है। प्रेम और स्नेह का दूसरा नाम ही किसी के अच्छे भविष्य के लिए मां का होना बहुत अधिक महत्व होता है। तो दोस्तों मेने माँ की ममता को शब्दों में maa par shayari के रूप में लिखने का प्रयास किया है प्यारी मां के ऊपर.. 




maa par shayari in hindi:-उसकी दुआएँ कभी बेअसर..


उसकी दुआएँ कभी बेअसर नहीं होती
माँ की ममता कभी खत्म नहीं होती
सारे जहाँ से बड़ा होता है माँ का दिल..
पुत्र कुपुत्र हो सकता है लेकिन माता कभी कुमाता नहीं होती।

usakee duaen kabhee beasar nahin hotee
maa kee mamata kabhee khatm nahin hotee
saare jahaan se bada hota hai maan ka dil..
putr kuputr ho sakata hai lekin mata kabhee kumaata nahin hotee.



नहीं है आसान उस पर लिखना जिसने तुम्हें लिखा है।
बस एक अक्षर का शब्द है, माँ लेकिन लिखो तो पन्ने कम है।



maa ki shayari with image
maa ki shayari with image



nahin hai aasaan us par likhana jisane tumhen likha hai.
bas ek akshar ka shabd hai, maa lekin likho to panne kam hai.



मुस्कराते चहरे के पीछे, है आसुओं का सैलाब..
माँ है वो मेरी, केसे कर दु उसका हिसाब..
है क़तरा क़तरा मेरा उसकी दुआओं से बना ।
मै उसका एक पन्ना हू बस, है वो मेरी पूरी किताब।

muskaraate chahare ke peechhe, hai aasuon ka sailaab..
maa hai vo meree, kese kar du usaka hisaab..
hai qatara qatara mera usakee duaon se bana .
mai usaka ek panna hoo bas, hai vo meree pooree kitaab.


maa shayari 2 lines-मेरी हर ख़ुशी में 

मेरी हर ख़ुशी में उसकी ख़ुशी होती है..
ऐ माँ तेरी ईन दुआओं से ही मुझे ख़ुशी मिलती है।


meree har khushee mein usakee khushee hotee hai..
ai maa teree een duaon se hee mujhe khushee milatee hai.



जब कभी चोट लगी तो
माँ के बस चूमने से ही दर्द गायब हो जाता था।


maa ki shayari with image
maa ki shayari with image


jab kabhee chot lagee to
maan ke bas choomane se hee dard gaayab ho jaata tha.


maa par shayari:-माँ ने दुआओं के बदले 


माँ ने दुआओं के बदले कभी कुछ चाहा नहीं..
बस बदले में मुस्करा दो तो इसमे तुम्हारा कुछ जाता नहीं।
तुम्हारी एक मुस्कराहट पाने की कितने दर्द सहे उसने..
ये बताना माँ के फ़ितरत मे नही....

maa ne duaon ke badale kabhee kuchh chaaha nahin..
bas badale me muskara do to isame tumhara kuchh jata nahi.
tumhaaree ek muskaraahat paane kee kitane dard sahe usane..
ye bataana maan ke fitarat me nahee....


read more;- love shayari

नहीं तलाश है मुझे जन्नत की, ना तलाशु में चार धाम
जब बन जाए माँ के चरणों मे बिगड़े सारे काम।



maa ki shayari with image
 maa par shayari image





nahi talash hai mujhe jannat ki, na talashu me chaar dhaam
jab ban jae maa ke charanon me bigade saare kaam.


परदेश से लौटते हैं सबकी आखों में सपनें होते हैं..
बस एक मेरी माँ है जिसकी आखों में बस आसु होते हैं।

paradesh se lautate hai sabake aakhon me sapanen hote hai..
bas ek meree maa hai jisaki aakhon mein bas aasu hote hain.

maa ki yaad shayari hindi-
माँ की दुआओं में 

मुस्किल घड़ी भी आसां लगती है..
माँ की दुआओं में इतनी जान होती है।




muskil ghadee bhee aasaan lagatee hai..
maan kee duaon mein itanee jaan hotee hai.


beautiful maa par shayari:-करुणा का सागर है माँ..


करुणा का सागर है माँ..
ममता की मुरत है माँ..
हाथ फ़ेर दे सर पर तो सब ग़मों की दवा है माँ।

karuna ka saagar hai maa..
mamata kee murat hai maa..
haath fer de sar par to sab gamon kee dava hai maa.



उसकी दुआओं का असर है...
आज फ़िर उड़ान आसमान की तरफ है..

usakee duaon ka asar hai...
aaj fir udaan aasamaan kee taraph hai..


अब तो बस पेट bharta है..
भूख तो तब लगती थी जब माँ खाना बनाती थी।

ab to bas pet bhart hai..
bhookh to tab lagatee thee jab maa khaana banaatee thee.


बंटवारा जब हुआ सबने पूछा क्या क्या है मेरे हिस्से में ।
आखिर में बोली माँ  मै किसके हिस्से में...

bantavara jab hua sabane puchha kya kya hai mere hisse me .
aakhir mein bolee maa  mai kisake hisse mein...

Read more:- shayari on life


माँ कभी बद्दुआ नहीं देती, हर ख़ता भुला देती है।
कोठरी मे पडी पडी भी अपने लाडलों को दुआ देती है।


maa ki shayari with image
maa ki shayari with image


maa kabhee baddua nahin detee, har khata bhula detee hai.
kotharee me pade pade bhi apane laadalon ko dua detee hai.




घर अब मकान बन गया..
तेरे बिन माँ मेरा जहां सुनसान हो गया।


ghar ab makaan ban gaya..
tere bin maa mera jahaan sunasaan ho gaya.


maa ki mamta shayari-माँ की दुआएँ

माँ की दुआएँ बिगड़ी हुई तकदीर बना दे..
मुस्करा दे एक बार तो ज़मी को जन्नत बना दे।


maa-par-shayari-image
maa ki shayari with image


maa kee duaen bigadee huee takadeer bana de..
muskara de ek baar to zamee ko jannat bana de.


maa ki duaye shayari:-माँ की दुआएँ हो तो 

कितनी मिन्नते पूरी नहीं होती,
माँ की दुआएँ हो तो कोई अधूरी नहीं रहती
इन्सान ढूंढता उस पत्थर की मुरत मे..
 जिसके साथ माँ नहीं रहती।


kitanee minnate pooree nahin hotee,
maa kee duaen ho to koee adhooree nahin rahatee
insaan dhoondhata us patthar kee murat me..
 jisake saath maan nahin rahatee.





मेरी  आवाज को पहचान लेती है माँ, की मै किस हाल में हू।
क़तरा क़तरा मेरा उसकी रूह से बना ये केसे भूल गया हू।


meree  aavaaj ko pahachaan letee hai maa, kee mai kis haal me hu.
qatara qatara mera usakee rooh se bana ye kese bhool gaya hoo.




कोन खिलाफ़ है कौन साथ है फर्क़ नहीं पड़ता..
मेरी माँ की दुआएँ साथ है मेरे कोई कुछ बिगाड़ नहीं सकता।

kon khilaaf hai kaun saath hai pharq nahin padata..
meree maa kee duaen saath hai mere koee kuchh bigaad nahin sakata.


बस एक याद से कितनी ख़ुश होती माँ..
हज़ारों गुनाह माफ़ है वो दुनिया इकलौती अदालत है माँ।


maa ki shayari with image
maa ki shayari with image



bas ek yaad se kitanee khush hotee maa..
hazaaron gunaah maaf hai vo duniya ikalautee adaalat hai maa.


maa ka aanchal shayari:-उसके आंचल मे रहा


उसके आंचल मे रहा, छुपाया उसने हर बूरी नजरों से।
काला तिलक लगाया उसने, लाल रहें मेरा ख़ुशी से..


usake aanchal me raha, chhupaaya usane har buri najaron se.
kaala tilak lagaaya usane, laal rahen mera khushee se..


जन्नत की नहीं मुझे माँ की जरूरत है..
उसकी गोद कोई जन्नत से कम नहीं है।


maa ki shayari with image



jannat kee nahin mujhe maa kee jaroorat hai..
usakee god koee jannat se kam nahin hai.



मेरी मुस्कराहट से मुजे पहचान लेती है..
माँ, मेरे आवाज को सुनकर मेरा हाल जान लेती है।


meree muskaraahat se muje pahachaan letee hai..
maa, mere aavaaj ko sunakar mera haal jaan letee hai.



आज फ़िर गिर कर खड़ा हुआ हू..
हारकर के एक बार फिर जीत गया हू
शायद माँ की दुआओ का असर है
इसलिए मरकर जिंदा हुआ हू।


aaj fir gir kar khada hua hoo..
haarakar ke ek baar phir jeet gaya hoo
shaayad maa kee dua o ka asar hai
isalie marakar jinda hua hoo.



अपने लिए कभी कुछ माँगा नहीं उसने..
बस एक माँ की दुआएँ होती है जिसमें कोई स्वार्थ नहीं।


apane lie kabhee kuchh maanga nahin usane.
bas ek maa kee duaen hotee hai jisamen koee svaarth nahin.


maa ki mamta  par shayari:-एक शब्द मे संसार समाया है.


एक शब्द मे संसार समाया है..
वों माँ है जिसने दुआओं से मुझे बनाया है..
मेरी एक मुस्कराहट से उसने अपने सारे दुखों को भुलाया है।
धरती पर जन्नत मिले इसलिए ख़ुदा ने माँ को बनाया है।


ek shabd me sansaar samaaya hai..
von maan hai jisane duaon se mujhe banaaya hai..
meree ek muskaraahat se usane apane saare dukhon ko bhulaaya hai.
dharatee par jannat mile isalie khuda ne maan ko banaaya hai.



वों दुआएँ करती रही, कि चमके उसका सितारा आसमान में।
वो बस बीवी बच्चों का होके रह गया, भूल गया एक माँ भी है जहां में।


von duaen karatee rahee, ki chamake usaka sitaara aasamaan mein.
vo bas beevee bachchon ka hoke rah gaya, bhool gaya ek maan bhee hai jahaan mein.

maa par कविता :- 


मेरे सोने तक जागी माँ..

मै रोया तो रोई माँ..

पडी जब धूप तो डण्डी हवा सी आई माँ।
गिरने से पहले ही उठाने आई माँ..

दुआएँ बस यही मांगे छू हू में बुलन्दियों को..
काटो पर ख़ुद सोकर मुझे रास्ता दिखाई माँ..

उसका फटा आंचल छुपा देती है, ख़ुश होती वो मुझे sawarkar
नजर ना लगे मेरे कलेजे के टुकड़े को, फिर काला टीका लगाती माँ।

दुआ करती वो मेरे खुशियो की, पर कभी याद ना आई माँ..
ठोकर लगी छोटी सी ,पलक झपकते  याद आई माँ

कोइ समझ ना सका उस मुस्कुराहट के पीछे..
विदा करके बेटे को ना जाने कितनी रातें ना सोई माँ।

 सपनें दिखाये उसने आसमान के, उसका चांद और सूरज हू में।
जाने दूर रहकर अपने आसमान से चुपके चुपके कितनी रोई माँ।

डंडा टिकाये हाथ में, बुढ़ी नजर राहे देखती दहलीज पर..
अनपढ रहकर भी एक एक दिन ना भूलती माँ।

आय़ा नहीं लाल मेरा, दिन तो यही बताया था।
जाने कितनी दूरी को पल भर में नाप लेती माँ।

सासें कुछ बचीं है शायद देख लेती एक बार कलेजे के टुकड़े को।
उसके इंतजार में पल पल सदियों से गुजारति माँ।

तकदीर जिसने बनाई है, बेटों पर बोझ वो बन जाते हैं।
ठुकरा दे वो बेटे फ़िर भी दिल से दुआएँ देती माँ...

शहर में परिवार बन गया, बिजनेस में कमाल हो गया।
ये उन दुआओं की मेहरबानी है, जो गांव में अकेली रह गई माँ।

चांद सूरज सब साथ चलें पर घर में अकेली रह गई माँ।
ख़ुद भूखी रहकर भी मुजे भरपेट खिलाई माँ।


आपको माँ maa par shayari कैसी  लगी।  हमें कमेंट में जरूर बताये। हमारी वेबसाइट पर विजिट के लिए धन्यवाद। आसा करते है आप अपनी माँ के साथ हमेशा रहे....


Post a Comment

Previous Post Next Post
<-- -->