-->

40+ sad shayari for friendship। Dard bhari dosti shayari with images।


Sad shayari for friendship



Dard bhari dosti shayari, sad shayari for friendship, with images -Very nice heart touching sad dosti shayari, new dosti shayari, dosti stetus in hindi with beautiful images if you miss your friends and love them.. Sand this dosti shayari and make them proud that they have best friends like you...

Dost बहुत होते हैं पर अच्छे दोस्त जो हमारे दिल मे जगह बना लेते हैं एसे यार बहुत कम मिलते हैं.. Miss you all my dear friends..





दुनिया की इस भीड़ में हम भी शामिल हो गये।

दोस्त मेरे साथ ना रहें, इस भीड़ में ही गुम हो गये,

ना शिकवा ना शिकायत है यारो..

जो पास रहते थे दिल के हर वक़्त.. बिछड़े ज़माने हो गये।

Duniya ki is bhid mein ham bhi shamil ho gaye.
 Dost mere sath na rahen, is bhid me hi gum ho gaye, 
Na shikava na shikayat hai yaro.. 
Jo pas rahate the dil ke har vaqt.. 
bichhade zamane ho gaye.

Dard bhari dosti shayari-दर्द तब भी होता था


sad-shayari-for-friendship
 friendship Shayari image


दर्द तब भी होता था सीने में हमारे..
पर सम्भाल लेते थे दोस्त हमारे..

जहा एक अपना था... 

वहां दोस्तों के सिवाय कुछ ना था. 




Dard tab bhi hota tha sine mein hamare.. 

Par sambhal lete the dost hamare Jaha ek apana tha.. 

vahan doston ke sivay kuch na tha..


sad shayari for friendship-ये हसी पल भी बीत जाएंगे

ये हसी पल भी बीत जाएंगे, यार साथ पर अब जुदा हो जाएंगे.. 
यहि सोच सोचकर हम चुप छुपकर आसु ग़म में बहाँयेंगे.. 
कल ना जाने कोन किधर होगा, सब अपने अपने रास्ते चलें जाएंगे, 

sad-shayari-or-friendsh-iimage
sad shayari image for friendship


ye hasi pal bhi bit jaenge, yar sath par ab juda ho jaenge..
yahi soch sochakar,
ham chup chhupakar aasu gam mein bahanyenge..
kal na jane kon kidhar hoga, sab apane apane raaste chale




sad shayari for friendship-हुत दर्द लिए फिरता हू...

बहुत दर्द लिए फिरता हू में..बेइंतहा ज़ख्म है दिल में मेरे..

कब के अलविदा कह जाते हम..

कुछ सासों पर हक है उनका, वो दोस्त है मेरे..


sad-shayari-or-friendsh-iimage
 sad shayari for friendship, with images

Bahut dard lie phirata hu mein.. 
Beintaha zakhm hai dil mein mere.. 
Kab ke alavida kah jaate ham 
Kuchh sason par hak hai unaka, vo dost hai mere..



कुछ बाते बिना दोस्तों -dosti shayari

कुछ बाते बिना दोस्तों के पूरी नहीं होती..
कुछ हसरतें दोस्तों से पूरी होती है.. 
खुशी में सब, ग़म में सिर्फ दोस्ती साथ होती है.. 
लाख पा ले मुकाम.. तन्हाई तो दोस्तों से दूर होती है..

sad-shayari-or-friendsh-iimage
dosti sad shayari  image


kuchh baate bina doston ke pooree nahin hotee..
kuchh hasaraten doston se pooree hotee hai..
khushee mein sab, gam mein sirph dostee saath hotee hai..
laakh pa le mukaam.. tanhaee to doston se door hotee hai..


Read also said... Shayari

नही लगाते हम शर्त अपने यारों के साथ..
उन्होंने कबूल किया है मुझे हर कमजोरी के साथ।







sad-shayari-or-friendsh-iimage



Nahi lagate ham shart apane yaron ke sath.. 

Unhonne kabul kiya hai mujhe har kamajori ke saath.


ये केसे तुमने अलविदा कह दिया.. 
बीच राह में अकेला छोड़ दिया.. 
टूटे दिल का एक ही सहारा था.. दोस्ती 
आज उसने भी बेगानौ के लिए.. 
मेरा साथ छोड़ दिया.. 

sad shayari for friendship
sad shayari for friendship

ye kese tumane alavida kah diya..
beech raah mein akela chhod diya..
toote dil ka ek hee sahaara tha.. dosti
aaj usane bhee begano ke लिए..
mera saath chhod diya..



दोस्तों के साथ के पल बहुत याद आते हैं।
हसते हसते ही आसु निकल जाते हैं..

ग़म में हसी और हसी में ग़म दे जाते हैं.


sad shayari for friendship


Doston ke saath ke pal bahut yaad aate hain. 

Hasate hasate hi aasu nikal jaate hain.. 

Gam mein hasee aur hasee mein gam de jaate hain..





गिले तो बहुत है मेरे दोस्त तुझसे..
पर दोस्त है और दोस्ती की कदर करते हैं..


sad shayari for friendship


Gile to bahut hai mere dost tujhase..

Par dost hai aur dostee kee kadar karate hain..





ना याद करे मेरे दोस्त मुझे तो ना सही,

मुझे भी तो आज ज़माने बाद याद तेरी आई है..

चार कदम चलूं मे, चार कदम तू चल तो सही..



Na yaad kare mere dost mujhe to na sahi, 

Mujhe bhi to aaj zamane baad yad teri aai hai.. 

Char kadam chalun me, char kadam tu chal to sahi..





दोस्ती तेरी मेरी क्यों इतनी प्यारी हैं..

सब रिश्ते लगे फीके, ये यारी सबसे न्यारी है..

इसलिए छोड़कर दुनिया की फ़िकररहें तू सलामत, 
यही दुआ हमारी है..


sad shayari for friendship



Dosti teri meri kyon itani pyari hain..

Sab rishte lage phike, ye yari sabase nyari hai.. 

Isalie chhodakar duniya ki fikar.. Rahen tu salamat, yahi dua hamari hai..







जब सुनाएगा कोई दासता दोस्तों की..

कुछ लम्हे हमें भी याद आ जाएंगे..

रोक ना पाएंगे हम खुद को ए मेरे दोस्त
निकलेंगे आसु दिल से और आखों से रोक ना पाएंगे...


Jab sunaega koi dasata doston ki..
Kuchh lamhe hamen bhi yad aa jaenge.. 
Rok na paenge ham khud ko e mere dost 
Nikalenge aasu dil se aur aakhon se rok na paenge...



नहीं है हमारे पास कोई हुकुम का एक्का...
किस्मत में लिखे सब जोकर निकले।
कोइ कहता अपने को शहंशाह इस दुनिया का,
दफन हुआ कल वो सात फुट के गड्ढे मे..
केसे जीयेगा चेन से, जो खाता ऑरों के नसीब का..

Nahin hai hamare pas koee hukum ka ekka...
Kismat mein likhe sab jokar nikale.
Koi kahata apane ko shahanshah is duniya ka, 
Daphan hua kal vo sat phut ke gaddhe me.. 
Kese jeyega chen se, jo khata oro ke naseb ka..



ये दर्द भी कम-Heart touching  friendship


ये दर्द भी कम हो जाता तन्हाई का..
क्या शीला दिया तूने मेरी वफ़ा का..
रुसवाई खुद से थी मेरे दोस्त..
कभी हमें भी थोड़ा हक दिया होता...
एसी बेवफ़ाई का..


सुनसान पडी किसी क़ब्र पर ठोकर हमारी लग गई,
कोइ बड़े दिल वाला था, माफी मुजे मिल गई..



Ye dard bhi kam ho jata tanhai ka.. 
Kya shela diya tune meri vafa ka 
Rusavaee khud se thee mere dost.. 
kabhi hamen bhi thoda hak diya hota esi bevafai ka..
sunsan padi kisi qabr par thokar hamari lag gai, 
koi bade dil vala tha, maphee muje mil gai..




कुछ दासता सुनाई उसने, 
क्या इल्जाम दु मै गैरों को ए दोस्त...

सताया भी अपनों ने और दफनाया भी अपनों ने।

ठोकर के बहाने ही बेठ जाते हैं
क़ब्र पर मेरे बन जाते दोस्त,

कुछ सुनने और कुछ सुनाने को ...







Kuch dasta sunai usne, 

kya iljam du mai gairo ko e dost .. 

Sataya bhee apano ne aur daphanaya bhi apanon ne. 

Thokar ke bahane he beth jate hain,

 qabr par mere ban jate dost, 

Kuchh sunane aur kuchh sunaane ko ...



Beautifull friendship shaayari-ग़म भुलाकर थोड़ा








ग़म भुलाकर थोड़ा मुस्कराओ दोस्तों ...
थोड़ा ही सही कुछ तो बताओ..ना रूठे इस तरह से..
कुछ हमारी सुनो कुछ अपनी सुनाओ यारों ...
जिंदगी हस्ती रहें हमारी इसी तरह से..
कभी तो हमें भी गले से लगाओ यारों..




Gam bhulakar thoda muskarao doston ...
thoda hi sahi kuchh to batao.. 
Na ruthe is tarah se.. 
Kuchh hamarei suno kuchh apani sunao yaro Jindagee
hastee rahen hamaaree isee tarah se..
abhi to hamen bhi gale se lagao yaro..





ठुकरा दे कोई तो सह लेना hasake..

नहीं होती है यारी सबको इस दुनियां में..
पाकर कर ही तो मंजिल राही रुकता है..
खाकर ही तो ठोकर इंसान संभलता है...





नसीब में नहीं मेरे कुछ, 
पर है कुछ खास दोस्त..
जब दोस्त मिल गए तो और कुछ मांगने की..
जरूरत ही नहीं पड़ी..



sad-shayari-fo- friendship
dosti-image



Nasib mein nahin mere kuchh,

par hai kuchh khas dost.. 

jab dost mil gae to aur kuchh mangane ke

 jarurat hi nahin padee..



कुछ रिश्ते हमें खुद बनाने पड़ते हैं..dosti shayari



कुछ रिश्ते हमें खुद बनाने पड़ते हैं
दोस्ती में भी दिल दुखाते रहते हैं 
कुछ पल का साथ है मेरे यारो..

जी लो साथ यारों के, फिर जिंदगी भर आसु बहाने पड़ते हैं..







Kuchh rishte hamen khud banane padate hain.. 

Dosti mein bhi dil dukhate rahte hain kuchh 

Pal ka sath hai mere yaaro.. Ji lo sath yaron ke, 

phir jindagi bhar asu Bahane padate hain..



नहीं है मिली मुझे वो कलम,
जिसे मे अपने यारो को पैगाम लिखू..
नहीं है पास मेरे वो तराजू जिसमे तोल सकू मे उस यारी की.
याद बहुत करता हू तुम्हें, ये किस शब्दों में लिखू।








Nahin hai mili mujhe vo kalam, 

jise me apane yaro ko paigaam likhu.. 

nahin hai paas mere vo taraju jisame tol saku 

me us yaree ko.. 

yaad bahut karata hu tumhen,

 ye kis shabdon mein likhu.



Miss you दोस्त sad shayari.. .


कहानी कुछ और होती हमारी.
कुछ दोस्त थे जिन्होंने बदली किस्मत हमारी.
साथ दिया जब जरूरत थी.. अपनों की तरह
बर्षों निकल गए, अब भूल गए परायों की तरह.. 


Kahani kuchh aur hoti hamari.. 

Kuchh dost the jinhonne badali kismat hamaari. 

Saath diya jab jaroorat thi.. apanon ki tarah 

Barshon nikal gae, ab bhool gae paraayon ki tarah..





मिल जाते हैं राह में.. दोस्तों की कमी नहीं..

कुछ गिराने की कोशिश मे और कुछ सम्भाल लेते हैं.

Khud गरज़ दुनिया में कोई किसी का नहीं..
मिल जाते हैं दोस्त यहां पर dosti की कदर नहीं.. 



Mil ate hain raah mein.. doston kee kami nahin..

Kuch girane ki koshish me aur kuch sambhal lete hain.

Khud garaz duniya mein koi kisi ka nahin.. 

Mil jate hain dost yahan par dosti ki kadar nahin..



सुबह और शाम का सिलसिला, फिर  रात होगी।
माँगकर तो देख ए मेरे दोस्त.. तेरे लिए
रहेगी मुस्कान चहरे पर और हथेली पे जान होगी..

subah aur shaam ka silasila, phir raat hogee.
maangakar to dekh e mere dost.. tere lie
rahegi muskan chahare par aur hatheli pe jan hoge


राहें सब आसान नहीं होती..
सबको मंजिलें नहीं मिलती .. 
यू तो साथ चलता है ज़माना, 
जो साथ चलें वो दोस्ती नसीब से मिलती .. 

raahen sab aasan nahi hoti..
sabako manjilen nahin milatee ..
yoo to saath chalata hai zamaana,
jo saath chalen vo dosti naseeb se milatee .

.

यादें हमारी दिल में रह जाएगी, 

चहरे से मुस्कान छीन जाएगी, 
चलें जाएंगे एक दिन हम छोड़कर, 
यादें हमारी तुम्हें रूलाएगी.. 




sad-shayari-fo- friendship
sad-shayari-fo- friendship

yade hamari dil mein rah jaegi,
chahare se muskaan chhin jaegi,
chalen jaenge ek din ham chhodakar,
yaden hamaari tumhen roolaegi..
दोस्ती खुद गरज़ नहीं होती है .. 
प्यार ही नहीं होता सबकुछ, 
दोस्ती प्यार से भी बढ़कर होती है. 
बस निभाये कोई दिल से, 
दोस्ती जन्नत से भी हसी होती है। 


dostee khud garaz nahin hotee hai ..
pyaar hee nahin hota sabakuchh,

dostee pyaar se bhee badhakar hotee hai.
bas nibhaaye koee dil se,

dostee jannat se bhee hasee hotee hai.




ना रूठे अपने यारो से.. 
मिलेंगे नहीं ये आसमानों से..
नहीं मिलते हैं सच्चे दोस्त जहां से 

Friendship का relation बनता है दिल से.. 


sad-shayari-fo- friendship


na roothe apane yaaro se..
milenge nahin ye aasamaanon se..

nahin milate hain sachche dost jahaan se

दोस्त दोस्त होते हैं, 
लगे चोट जो जिस्म पर घाव दिल में होते हैं। 
बडी मुस्किल से मिलते हैं सच्चे दोस्त..  
वो दोस्त लाज़वाब होते है
खोना नहीं संभाल के रखों एसे दोस्तों को 
ये खुदा के फरिश्ते होते हैं.. 



dost dost hote hain,
lage chot jo jism par ghav dil mein hote hain.
badee muskil se milate hain sachche dost..

khona nahin sambhal ke rakhon ese doston ko
vo dost lazavab hote hai
ye khuda ke pharishte hote hain..




चाहें हम जहाँ रहें friendship ये जीवन भर निभाएंगे... 




पागल है ज़माना जो कदर ना करे दोस्ती की.. 

रूठे प्यार, टूटे दिल तो  सहारा बनती है दोस्ती.. . 
खाओ जो ठोकर, तो संभालती है दोस्ती.. 
घाव पर नमक लगाने वालो मे... मरहम लगाती हैं दोस्ती ..


sad-shayari-fo- friendship
best friendship shyari image


pagal hai zamana jo kadar na kare dosti ki..
ruthe pyaar, tute dil to sahara hai dosti.. .
khao jo thokar, to sambhaalati hai dostee..
ghaav par namak lagaane vaalo me...
maraham lagaatee hain dostee .


मोहब्बत में दर्द के सिवा क्या रखा है..

टूटते ज़ज्बात बिखरते सपनें.. 

लम्हा लम्हा सिसकता देखों..

करनी है तों यारी करो.. 
कभी निभा के दोस्ती देखों.


sad-shayari-fo- friendship



Mohabbat mein dard ke siva kya rakha hai.. 

Tutate zajbaat bikharate sapanen.. 
lamha lamha Sisakata dekhon.. 

Karaie hai ton yari karo.. 
kabhi nibha ke dosti dekhon.

दोलत तो तुम भी...Dosti shayari




दोलत तो तुम पा लोगे पर दोस्त कहा से लाओगे..

खुशियां तुम खरीद लोगे पर दोस्ती खरीद ना पाओगे

मिल जाएंगे अपने तुम्हें पर वो यारी कहा से laoge..

खरीद लोगे महंगी घड़ी पर ...
उनके साथ के पल कहा से  लाओगे.. 

sad-shayari-fo- friendship


Dolat to tum pa loge par dost kaha se laoge..

Khushiyan tum kharid loge par dosti kharid na paoge 

Mil jaenge apane tumhen par vo yari kaha se laogai.. 

Kharid loge mahangi ghadi par . unake sath ke pal kaha se loigai..





दोस्तों से ही होती थी दुनिया हमारी..

अब सब मतलब कि दुनिया है

जेब में खाली रहती थी फिर भी खुश थे हम..
आज सबकुछ पाकर भी miss करते हैं दोस्तों की यारी. 



Doston se hi hoti thi duniya hamari.. 

Jeb mein khaali rahati thi phir bhi khush the ham..

Aaj sabakuch pakar bhi miss karate hain doston ki yari..





नहीं मिलती है सच्ची यारी सबकों..

ये वो दुनिया है जहां अपनी अपनी पडी है सबकों..

खुशी नसीब है जिनको मिली सच्ची दोस्ती.

यहां तो पल भर मे रंग बदलते देखा है अपनों को..



Nahin milati hai sachchi yaari sabakon..

ye vo duniya hai jahan apani apani padi hai sabakon..

khushi nasib hai jinako mili sachchi dosti. 

yahan to pal bhar me rang badalate dekha hai apanon ko..





मिलते हैं कई दोस्त और बिछड़ जाते हैं कई दोस्त..

सच्ची है दोस्ती तो आज नहीं तो कल फिर मिल जाते हैं दोस्त..



Milate hain kai dost aur bichhad jate hain kai dost..

Sacchi hai dosti to aaj nahi to kal phir mil jate hain dost..



ek din कफन-Very sad shayari for friends-



एक दिन कफन ओढ़ के एसे ही सो जाएंगे..

रिश्ता गहरा हो कितना उसको भी तोड़ जाएंगे..

जी भर सता लो यारों, क्या पता दीन ये फिर ना आयेंगे..

लकिन जब भी हम जाएंगे.. तुम्हें रुलाते हुए जाएंगे।

sad-shayari-fo- friendship
sad-shayari-fo- friendship-image



Ek din kaphan odh ke ese hi so jaenge..

Rishta gahara ho kitana usako bhi tod jaenge.. 

Ji bhar sata lo yaron, kya pata din ye phir na aayenge.. 
Lakin jab bhi ham jaenge.. tumhen rulate hue jaenge.



खुशियो मे भी ना ख़ुशी होती थी.
पर जबसे निकला है ये दिल हाथ से

हर रोज एक नई खुशी दस्तक देती है 

दरवाजे पर.आ जाती है किसी बहने से..



khushiyo me bhi na khushi hoti thi.

par jabase nikala hai ye dil hath se. 

har roj ek naee khushee dastak detee hai 
daravaaje par. aa jaati hai kisi bahane se..





खुशी कहें या कहें कुछ और मर ही मिटे है उसपर..

अखबार के पन्नों का शौक, बने रहते थे उसपर सुबह शाम.

वक़्त कुछ गुजर गया एसे, बिक गए सब रद्दी के भाव.



Khushi kahen ya kahen kuch aur mar hi mite hai usapar..

Akhabar ke pannonka shauk, bane rahate the usapar subah sham. 

Vaqt kuchh gujar gaya ese, bik gae sab raddee ke bhaav.



पास जिसके दोस्त नहीं, पाकर सबकुछ भी वो खुश नहीं। 
महफ़िल हो हज़ारों की, या भीड़ हो शहनाई की,,
गले मिले जब दोस्त दोस्त से,
रह जाती दिल मे और कोई ख्वाहिश नहीं... 

sad-shayari-fo- friendship


pas jisake dost nahi, pakar sabakuchh bhi vo khush nahi. mahafil ho hazaron ki, ya bheed ho shahanai ki,,
gale mile jab dost dost se,
rah jaati dil me aur koi khvahish nahin...

केसे रहते हैं हम दूर आपसे..
लगती है तुम्हारी यादे काँच के टुकड़े सी.

और उसपर दिल हमारा चलता नंगे पेर है... 



Kese rahate hain ham dur apase.. 
Lagatu hai tumharu yade kanch ke tukade si. 
Aur usapar dil hamara chalata nange per hai...





हो जाती है गलतिया भी इश्क की तरह.

ना शिकवा ना शिकायत करो

,जिंदगी हसीन है, खुलकर जिया करो..

आयी है रात तो सुबह का भी इंतजार करो

पल वो भी आएगा, जिसका है इंतजार तुम्हें,रखों भरोसा खुदा पे.. 

और वक़्त का एतबार करो। 

Ho jati hai galatiya bhi ishk ki tarah. 
Na shikava na shikaayat karo, 
Jindagi hasin hai, khulakar jiya karo..
Aayi hai rat to subah ka bhi intajar karo.. 
Pal vo bhi aega, jisaka hai intajar tumhen, 
Rakhon bharosa khuda pe.. aur vaqt ka etabar karo.


सब खामोश हैं यहां.. 
कोई कुछ नहीं बोलता।है इसमे भी स्वार्थ किसी का, 
क्यों भेद नहीं कोई खोलता। 
सच बोलकर क्यों किसी को नाराज वो करता 


Sab khamosh hain yahan.. koi kuch nahin bolata.
Hai isame bhi svarth kise ka, kyon bhed nahin koi kholata. 
Sach bolakar kyon kisi ko naraj vo karata.

sad-shayari-for- friendship:-मोती इतराते ...


मोती इतराते रहे जिंदगी भर, लोगों की वाह वाहि मैं...
भूल गए कि जिंदगी भर छिपकर उस धागे ने संजो के रखा हाथ की कलाई में.. 

Moti itarate rahe jindagi bhar, logon ki vah vahi main... 
Bhl gae ki jindagi bhar Chhipakar us dhage ne sanjo ke rakha hath ki kalai mein..


नहीं है हमारे पास कोई हुकुम का एक्का...
किस्मत में लिखे सब जोकर निकले।
कोइ कहता अपने को शहंशाह इस दुनिया का,
दफन सात फुट के गड्ढे मे..केसे जीयेगा चेन से, 
जो खाता ऑरों के नसीब का.. 



Nahin hai hamare pas koi hukum ka ekka... 

Kismat mein likhe sab jokar nikale. 

Koi kahata apane ko shahanshaah is duniya ka, 

Daphan hua kal vo sat phut ke gaddhe me.. 

Kese jeyega chen se, jo khata oron ke naseb ka..







एक सवाल को घेरे, 
पास उसके एक जबाव है.

दिखती किसी को सीसे में जिंदगी.. 
और एक आईने में ख्वाब है..



ek savaal ko ghere, 

pas usake ek jabaav hai.. 

dikhati kisi ko sise mein jindagi.. 

aur ek aaine mein khvab hai..



कभी तेरा कभी मेरा दोस्ती के फ़साने हज़ारों है... 
थोड़ी देर बात ना करो तो, मेरा रूठना तेरा मनाना है , 
अब ना शिकवे है ना शिकायत है तुझसे मेरे दोस्त.. 
ज़माने बीत गए तूझे देखे.. अब लौट आ मेरे दोस्त 
शिकायत नहीं दुआ करता हू, ले अब सब तेरा है.. 

sad-shayari-fo- friendship
sad-shayari-fo- friendship


kabhi tera kabhi mera dosti ke fasane hazaron hai...
thodi der bat na karo to, mera roothana tera manana hai ,

ab na shikave hai na shikayat hai tujhase mere dost..
zamaane bit gae tujhe dekhe.. ab laut aa mere dost
shikayat nahin dua karata hoo, le ab sab tera hai..


आशा करते हैं कि हमारी  sad shayari fo friendship आपको पसंद आई होगी, अपने दोस्तों को जरूर what's up और Facebook पर शेयर करे.. दोस्तों हमारे जीवन में एक dosti का रिश्ता ही हमे बनाना पड़ता है.. अच्छे दोस्त बहुत ही मुश्किल से मिलते हैं 

और दोस्ती निभाते हैं दोस्त भी बहुत खास होते हैं, हमारे जीवन मे अच्छे-बुरे दोनों तरह के लोग मिलते हैं लेकिन जिन्हे सच्चे दोस्त मिलते हैं

वे बहुत ही खुशनसीब होते हैं.. अगर आप भी अपने किसी best friends को miss करते हैं। और sad feel करते हैं तो उन्हें ये sad shayri जरूर भेजे.. आशा करते हैं आपको हमेशा अच्छे दोस्त मिले जो जीवन भर आपका साथ निभाए..

Post a Comment

Previous Post Next Post
<-- -->